Anupama || 8 December Episode Story & Facts

दोस्त राजेश कुमार के एपिसोड में हम आपको बताने वाले हैं कि अनुपमा के एपिसोड में क्या होगा वैसे तो आप सब जानती है कि अनुपमा के एपिसोड में क्या चल रहा है मन्नार्स ने काव्य को तलाक देने का डिसीजन ले लिया है क्या का फैसला देगी वनराज को या कुछ और करेगी यह जानने के लिए आप हमारी वेबसाइट को विजिट करते रहिए और टेलीग्राम चैनल को भी ज्वाइन कर लीजिए ताकि आपको टाइम पर अपडेट मिलती रहे तो आज हम आपको बताएगी कि अनुपमा के आज के एपिसोड में क्या होगा तो आर्टिकल पूरा पढ़िए और जानिए।

 

 

Anupama full episode

 

 

इंसान इसलिए शादी करता है कि ताकि उसे एक ऐसा इंसान मिले जिसके ऊपर वह आंख बंद करके भरोसा कर सके आंख बंद करके प्यार कर सके बस एक ऐसे इंसान चाहिए। लेकिन तुमने से रिश्ते में धोखा भी दिया और चालबाजी भी की शायद इसी को भगवान का इंसाफ कहते हैं। की लाइफ पार्टनर को चित्र करते हैं तो उसे कैसा लगता है। वनाज काबे से पूछता है कि चलो तुम एक बात बताओ तुम्हें याद है कम हम एक साथ बैठे थे और एक साथ चाय पी थी कब से थे साथ में यह बात बता दो तुम तुम्हें याद है।

 

मुझे तो याद नहीं है। काव्य बोलती है कि तुमने अनुपमा के साथ रोज झगड़े रोक चिलम जिले की है लेकिन तुमने तो इसके साथ 25 साल गुजार दिए फिर वनराज बोलता है कि क्योंकि मैंने अनुभाग में के साथ शादी की थी अनुपमा से प्यार नहीं किया था और तुम्हारे साथ मैंने प्यार किया है। प्यार में छोटी सी छोटी बात पर बहुत गहरी चुनती है। लोगों ने हमारे प्यार को गलत माना शायद आप भी मानते होगे लोगों के लिए पहले वह अफेयर होगा पर मेरे लिए वह सच्चा प्यार था।

 

सिर्फ सच्चा प्यार लेकिन मैं नहीं कह रहा हूं कि मैंने प्यार में कोई गलती की बहुत गलती है कि है मैन ओबामा को आगे बढ़ते हुए नहीं देख पा रहा था शायद इसलिए मैंने तुम्हारे साथ बदतमीजी की जो बात मुझे बुरी लगी मैंने तुम्हें सीधी कहीं इतनी साल की शादी में मुझे याद नहीं मैंने अनुपमा से कब सच कहा लेकिन मुझे यह भी याद है।

 

कब झूठ बोला काव्या कभी झूठ नहीं बोला मैंने तुमसे और इसके बदले में तुमने मुझे क्या दिया तुमने मेरे परिवार से बदतमीजी की तुमने मेरा बाबू जी के बदतमीजी की मेरे बच्चों से बदतमीजी की मेरा घर छीन लिया मुझसे झूठ बोला और मुझसे धोखा दिया मेरे से मेरे परिवार वालों का हक छीन लिया तुमने काव्य बोलती है कि वीर मैंने घर लौटा दिया है तो बात खत्म हो गई है फिर छोटका गांव पर भी जाए ना काव्या तो भी निशान रह जाता है ।

 

और तुम्हारी चोट का निशान चोट कितना ही कह रहा है मुझे माफ कर दो मैं आपको चुका हूं लड़ लड़ के झगड़ा झगड़ा के थक चुका हूं मैं हमारे बीच शादी पहले से ही सिर्फ झगड़े हुए हैं काव्या ना मैं तुम्हें खुश रख पा रहा हूं नहीं तुम मुझे खुश रख पा रही हो मैंने कोशिश की कि तुम्हें समझो तुम्हारे साथ एडजस्ट करो पर अब नहीं हो पा रहा है पहले प्यार था लेकिन अब प्यार खत्म हो गया हमें तुमसे प्यार नहीं करता कभी तुम्हारे धोखे ने वह प्यार छीन लिया।

 

अनुपमा के साथ मेरे रिश्ते में प्यार नहीं था पर रिस्पेक्ट थी अनुपमा की मैंने कभी कदर नहीं की लेकिन रेस्पेक्ट थी और हमारे रिश्ते में दोनों ही नहीं है आई डोंट लव यू और मैं तुम्हारे से रिस्पेक्ट नहीं करता और जिस रिश्ते में प्यार नहीं होता एस्पेक्ट नहीं होती उसे खत्म कर देना चाहिए। राजकार्य के हाथों में के तलाक के पर भर देता है और उसकी तरफ को देखता है फिर काव्य वनराज के साथ बिताए हुए पलों को याद करते हैं जब उसकी शादी हुई थी और कैसे इस घर में लाया था।

 

पर काव्य उस कागज को मरोड़ दी थी और फेंक देती है और कहती है दिवस माय फुट अनुपमा नहीं हूं मैं काव्या हूं और यह मत सोचो कि तुम अनुपमा की तरह मुझ से इतनी आसानी से पीछा छुपा छोड़ोगे मैं तुम्हें डिवोर्स नहीं दूंगी इसका मतलब नहीं दूंगी जो करना है तुम्हें करो और तुमने मुझे अपनी स्टोरी का वजन बना दिया है ना हमने तुम्हें विलेन बना कर दिखाऊंगी

आगे के एपिसोड में क्या होगा जानने के लिए हमारी वेबसाइट को विजिट टेलीग्राम चैनल को भी ज्वाइन कर लीजिए टाइम पर अपडेट पाने के लिए।

 

Thank you

Leave a Comment