Anupama || 9 December Episode Story & Facts

दोस्तों जिस कमाल के एपिसोड में आपको पढ़ने को मिलेगी अनुपमा के एपिसोड में क्या होगा वैसे तो आप सब जानती है कि अनुपमा के एपिसोड में क्या चल रहा है कैसे कॉपी ना कर दिया है वनराज को तलाक देने के लिए अगर आप जानना चाहते हैं कि क्या काव्य तलाक दे पाएगी और रोजगार नहीं हमारे एडिट करते रहिए और आर्टिकल को पढ़ते रहिए टेलीग्राम चैनल कर लीजिए टाइमर अपडेट पाने के लिए दो आर्टिकल ओं पूरा पढ़िए और जाने आज के एपिसोड में क्या होगा।

 

 

 

Anupama full episode

 

 

वरना जन्मभूमि से बोलता है कि मैं अपना फैसला नहीं बदलूंगा और वैसे भी तुम्हें क्या तुम अपनी जिंदगी जियो मुझे मेरी जिंदगी में जो हो रहा है वह मुझे जी लेने दो मेरे जिंदगी की जो भी प्रॉब्लम है वह मेरी है और सिर्फ मेरी है और वह बोलती है कि विदेश में ऐसा होता होगा हमारे देश में सिर्फ मेरा ऐसा कुछ भी नहीं होता यहां डोर चाय पतन की हो या जीवन की 10 और डोरियों से उल्टी रहती है सुना है कि विदेश में शादियों में भी कई बार सके मां-बाप नहीं जा पाते लड़का लड़की आपस में ही शादी कर लेते हैं।

 

और अलग भी होना होता है लड़की लड़का आपस में अलग हो जाते हैं पर हमारे यहां ऐसा नहीं होता यहां जब रिश्ता जुड़ता है तो रिश्तेदार तो क्या उनके पड़ोसी भी तक आते हैं रिश्ता जोड़ने की खुशी में जब सब शामिल होते हैं तो रिश्ता टूटने के दुख में भी शामिल होते हैं आपको लगता है दुख सिर्फ आपका केले का है ऐसा नहीं है हमारे देश में परिवार में कोई भी चीज आती है तो वह सब में बढ़ती है।

 

तो दुख भी पड़ेगा आपके रिश्ता टूटेगा तो भाभी टूटेगी और बाबूजी भी आप दुखी होगे तो स्वीटी भी दुखी होगी तो सभी दुखी होगा दिखाएगा नहीं पर समय भी दुखी होगा भारती इसमें बहुत छोटी बात होगी पर यहां पर बहुत बहुत ज्यादा बड़ी बात है मैं नहीं कह रही कि तलाक गलत है मैं बस इतना कह रही हूं कि तलाक अंतिम निर्णय है आखरी रास्ता है मैं भी इस रास्ते पर तक चली थी जब मेरे बाकी रास्ते सारे बंद हो गए थे।

 

आपने बाकी रास्ते सारे ट्राई करके देख लिए सोच लीजिए अच्छी तरह से सोच लीजिए क्योंकि इस धागे में से कई धागे लिपटे हुए हैं अगर एक धागा टूटेगा तो बाकी सारे दागों पर भी असर होगा फिर वनराज बोलता है कि तुम सही है भाई अनुपमा पर अब मैं है फैसला ले चुका हूं उनको बोलती है कि आप मुझसे प्यार नहीं करते थे कभी कल नहीं पाए पर काव्य और आपका रिश्ता तो प्यार की वजह से ही शुरू हुआ था ना वह राज बोलता है कि प्यार था पर अनुभव बोलती है।

 

 

पर क्या आवाज बोलता है पूजा की थाली होती ना उसमें कपूर रखा जाता है और आप खुश रखे कुछ घंटे भूल जाते हैं तो अब कपूर अपने आप उठ जाता है वैसे ही मेरे और काव्य के रिश्ते में हम प्यार रखे भूल गए और वह कुछ दिनों बाद अपने आप उठ गया वैसे प्यार नहीं करता हूं अनुपमा अनुभव बोल दिया कि काव्य पहले से ही बदतमीजी और और चिड़चिड़ी थी पर वो जैसे भी थे ना आप उससे बहुत प्यार करती थी ऑनर्स बोलता है बहुत प्यार करता था पर तब तक जब तक उसने बेईमानी नहीं की और धोखे से घर नहीं छीना था अनुभव बोल दिया कि घर छीना तो लौटा भी दिया था ।

 

 

तभी वनराज और अनुपमा को कुछ गिरने की आवाज आती है वहां पर काव्य सामान फेंक रही होती है वरना जोर अनुपम रूम में जाते हैं कभी बोलती है कि चले जाओ यहां से सब चले जाओ यहां से और रोने लगती और सम्मान बैंक में लगती है वनराज और अनुभवों से खड़े हुए देख रहे होते हैं तभी अनुपमा कमरे के पास आती हैं।

 

 

आगे के एपिसोड में क्या होगा जाने के लिए आप हमारी वेबसाइट को विजिट कीजिए टेलीग्राम चैनल को भी ज्वाइन कर लीजिए टाइम पर अपडेट पाने के लिए और ऐसे ही हमारी वेबसाइट पर बनी रहे। ताकि आपको टाइम पर अपडेट मिलती रहे।

 

Thank you

Leave a Comment